तुम्हारा रिजल्ट तय नहीं करता है कि तुम लूजर हो कि नहीं... तुम्हारी कोशिश तय करती है'

जिस महफिल ने ठुकराया हमको, क्यों उस महफिल को याद करें... आगे लम्हें बुला रहे हैं, आओ उनके साथ चलें'

सक्सेस के बाद का प्लैन सबके पास है... लेकिन अगर गल्ती से फेल हो गए... तो फेलियर से कैसे डील करना है... कोई बात ही नहीं करना चाहता'

अगर रोजे नहीं रखे... तो फिर ईद का क्या मजा

मैं सीरियल किलर, तुम सीरियल किसर... क्या जोड़ी है

मैं न एक बहुत अच्छे घर का शरीफ लौंडा हूं...' 

लड़कियां हीरो से नहीं... हीरे से प्यार करती हैं'

एक था राजा एक थी रानी... दोनों मर गए खत्म कहानी...

हॉलीवुड करे तो वाओ... टॉलीवुड करे तो हाओ