क्या आप जानते हैं राष्ट्रीय ध्वज से जुड़ी ये बातें

भारत की पहचान का एक प्रतीक हमारा तिरंगा है। लेकिन, इससे जुड़ी तथ्य कम ही लोगों जानते हैं। जानिए, राष्ट्रीय ध्वज से जुड़ी कुछ जरूरी बातें।

जरूरी बातें

पिंगली वेंकैया ने साल 1916 से 1921 तक करीब 30 देशों के राष्ट्रीय ध्वज का अध्ययन करने के बाद तिरंगे को डिजाइन किया था।

किसने किया डिजाइन

पहले तिरंगे में लाल, हरा और सफेद रंग हुआ करता था। वहीं, चरखे के चिन्ह को इसमें जगह दी गई थी।

पुराना डिजाइन

तिंरगे को भारतीय ध्वज के तौर पर मान्यता मिलने में करीब 45 साल लग गए। चरखे के जगह अशोक चक्र को ध्वज में शामिल किया गया।

कब बना राष्ट्रीय ध्वज?

22 जुलाई 1947 को आयोजित भारतीय संविधान सभा की बैठक के दौरान राष्ट्रीय ध्वज के वर्तमान स्वरूप को अपना लिया गया।

कब अपनाया गया ?

इसके बाद से ही तिरंगे को स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के मौके पर फहराया जाता है।

महत्व

तिरंगे का केसरिया रंग साहस और बलिदान का प्रतीक है। सफेद रंग शांति और सच्चाई को दर्शाता है और हरा रंग संपन्नता का प्रतीक है।

रंगों का मतलब

अशोक चक्र को कर्तव्य का पहिया कहा जाता है, जिसमें शामिल 24 तीलियां मनुष्य के 24 गुणों को दर्शाती हैं।

अशोक चक्र

देश में अटारी बॉर्डर- 360 फीट, कोल्हापुर, महाराष्ट्र- 303 फीट, पहाड़ी मंदिर, 293 फीट रांची जैसे जगहों पर सबसे ऊंचे तिरंगे शान से लहरा रहे हैं।

सबसे ऊंचे तिरंगे